जाने क्या हैं राखी बांधने की पूजा विधि?

जाने क्या हैं ? रक्षाबंधन के दिन अपने भाई को राखी बांधने की पूजा विधि- इस तरह राखी बांधें. सबसे पहले राखी की थाली सजाएं. इस थाली में रोली, कुमकुम, अक्षत, पीली सरसों के बीज, दीपक और राखी रखें. इसके बाद भाई को तिलक लगाकर उसके दाहिने हाथ में रक्षा सूत्र यानी कि राखी बांधें. राखी बांधने के बाद भाई की आरती उतारें. फिर भाई को मिठाई खिलाएं.

अगर भाई आपसे बड़ा है तो चरण स्‍पर्श कर उसका आशीर्वाद लें. अगर बहन बड़ी हो तो भाई को चरण स्‍पर्श करना चाहिए. राखी बांधने के बाद भाइयों को इच्‍छा और सामर्थ्‍य के अनुसार बहनों को भेंट देनी चाहिए. ब्राह्मण या पंडित जी भी अपने यजमान की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधते हैं.

राखी बांधते समय इस मंत्र का करें जाप 


ॐ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।

इसका अर्थ- इस मंत्र का अर्थ है कि जिस तरह से राजा बलि ने रक्षा सूत्र से विचलित हुए बिना अपना सब कुछ दान कर दिया था, उसी प्रकार का रक्षा सूत्र आज मैं तुम्हें बांध रही हूं. तुम भी अपने उद्देश्य से विचलित हुए बिना दृढ़ बने रहना.

1 thought on “जाने क्या हैं राखी बांधने की पूजा विधि?”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.